मर्दाना शक्ति बढाने के लिए बेहतरीन उपाय।

Image
Mardana Shakti Badhaane ka Rambaan Upaaye मर्दाना शक्ति बढाने के लिए बेहतरीन उपाय।हरि ॐ 
1. अपने सेक्स जीवन के  रीसेट बटन को  दबाएं  यदि आप एक यौन कूट में युग्मित और अटक गए हैं, तो आप अके
ले नहीं हैं। जबकि सूखे मंत्र किसी भी रिश्ते का एक सामान्य हिस्सा हैं, यह अभी भी एक अनुभव करने वाले जोड़ों के लिए कोई सांत्वना नहीं है। "गर्ल सेक्स 101" के एलीसन मून लेखक हेल्थलाइन ने कहा, "परिचितता सेक्स ड्राइव की मौत है।" "जितना अधिक हम किसी के लिए अभ्यस्त होते हैं, उतना कम रोमांचक सेक्स हो जाता है।"

यहां कुछ त्वरित युक्तियां दी गई हैं - जिनमें से कुछ मैंने कोशिश की हैं - यदि आपके सेक्स जीवन में कमी है, तो जुनून को राज करने में मदद करने के लिए।

2. एक नए तरीके से अपने शरीर की ऊर्जा को मुक्त करें  "नाच जाओ या योग का प्रयास करो," चंद्रमा कहते हैं। "एक बार जब आप अपने स्वयं के शरीर के साथ अपने संबंध की पुष्टि कर लेते हैं, तो आप अपने साथी के शरीर के साथ अपने संबंध की पुष्टि कर सकते हैं।" एक सर्वेक्षण में पाया गया कि युग्मित लेकिन यौन रूप से निष्क्रिय लोग द…

एलर्जी दूर करने के घरेलू उपाए।

Allergy Dur Krne Ke Ghrelu Upaaye

एलर्जी दूर करने के घरेलू उपाए।

हरि ॐ 

जब आपका इम्यून सिस्टम किसी बाहरी पदार्थ के प्रति अतिसंवेदनशील हो जाता है तो आपको उस पदार्थ से एलर्जी हो जाती है। एलर्जी ज्यादातर पराग कणों, खाद्य पदार्थ, कीट डंक (जैसे ततैया का काटना) और कुछ दवाओं के प्रति होती है।

Allergies
एलर्जी 

एलर्जी होने पर आपमें निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं - छींक, लगातार नाक बहना, खुजली, त्वच में रैश, सूजन और दमा (अस्थमा) होना।
डॉक्टर्स आमतौर पर एलर्जी का उपचार उसके कारण को पहचान कर करते हैं। इसलिए प्रत्येक एलर्जी का उपचार अलग-अलग हो सकता है। हालाँकि, कुछ घरेलू उपचारों को अपनाकर भी आप अपनी एलर्जी के लक्षणों को कम कर सकते हैं।
एलर्जी के सबसे कारगर घरेलू उपचार
एलर्जी से बचने का सबसे पहला और कारगर घरेलू उपचार होता है एलर्जेंस (एलर्जी पैदा करने वाले पदार्थ) से जितना हो सके उतना दूर रहना। आपका डॉक्टर भी सबसे पहले आपको यही सलाह देगा।
उदहारण के लिए यदि आपको सल्फा ड्रग्स से एलर्जी है, तो उसे अपने डॉक्टर को बताएं। आपका डॉक्टर निश्चित रूप से आपको ऐसे एंटीबायोटिक लिखेगा जिनमें सल्फा ड्रग न हो।
हालाँकि, कुछ एलर्जिक पदार्थों से बचे रहना काफी मुश्किल होता है। उदाहरण के लिए, आप पराग कणों से कितना ही दूर रहने की कोशिश करें, लेकिन सीजन के समय वातावरण में उनकी मात्रा बढ़ने के कारण वो आपकी नाक तक पहुँच ही जाते हैं।
इस परिस्थिति में इन एलर्जेंस से बचने के लिए आपको कुछ घरेलू उपचारों को अपनाने की जरूरत पढ़ती है। इसलिए मैं कुछ शोधकर्ताओं द्वारा मंजूर किये गए घरेलू उपचारों के बारे में बताने जा रहा हूँ।
नमक के पानी से नाक की सिंचाई
2012 में जर्मनी में हुए 10 शोधों में यह बात सामने आई कि नाक की नमक के पानी से सिंचाई करने से एलर्जी रिनिथिस (हे फीवर) के मरीजों को फायदा मिला। यह उपचार बच्चों और वयस्कों, दोनों के लिए फायदेमंद होता है।
घर या ऑफिस में HEPA फ़िल्टर लगवाएं
HEPA वातावरण की हवा में से हैवी पार्टिकल्स को कम करने वाला डिवाइस होता है। यह हवा में एलर्जी का कारण बनने वाले पराग कण, धूल, प्रदूषण आदि को साफ कर देता है।
पपीता और अनानस
पपीता और अनानास में ब्रोमलेन नामक एंजाइम पाया जाता है जो श्वसन तंत्र (रेस्पिरेटरी सिस्टम) में एलर्जी के कारण होने वाली सूजन को कम करता है और सांस को ठीक करता है।
एक्यूपंक्चर (Acupuncture)
2015 में 13 शोधों पर किये गए एक रिव्यु में यह बात सामने आई कि एक्यूपंक्चर सीजनल और बारहमासी, दोनों एलर्जी से बचाने में मदद करता है।
प्रोबायोटिक्स (Probiotics)
प्रोबायोटिक्स उन जीवित बैक्टीरिया और यीस्ट को कहा जाता है जो हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं, खासतौर से पाचन तंत्र के लिए। दही प्रोबायोटिक्स के सबसे बड़े स्त्रोतों में से एक होता है। इसकी दवाएं भी मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध होती हैं, जिनको आप अपने डॉक्टर से सलाह लेकर सेवन कर सकते हैं।
2015 में 23 शोधों पर किये गए एक रिव्यु में यह बात पता चली कि प्रोबायोटिक्स, हे फीवर के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं।
शहद
हालाँकि इसको साबित करने का कोई वैज्ञानिक सबूत तो मौजूद नहीं है। लेकिन एक थ्योरी देसी शहद को काफी तर्कसंगत साबित करती है। इस थ्योरी के अनुसार, मधुमक्खियाँ अपना शहद बनाने के लिए पराग कणों को इस्तेमाल करती हैं, इन्ही इन्ही पराग कणों से हमें एलर्जी होती है। इसलिए यदि हम नियमित देसी शहद का सेवन करें तो समय के साथ-साथ हमारे अंदर एलर्जिक रिएक्शन कम होती चली जाएँगी।
बिच्छू बूटी (Nettle)
कई प्राकृतिक चिकित्सक एलर्जी के उपचार में बिच्छू बूटी को लाभकारी मानते हैं।
केराटिन (Quercetin)
एलर्जी के उपचार के लिए प्राकृतिक चिकित्सकों में केराटिन सबसे ज्यादा प्रचलित है। यह शरीर में हिस्टामिन के स्त्राव को नियंत्रित करता है और एलर्जी के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।
यह ब्रोकोली, गोभी, ग्रीन टी और साइट्रस फलों में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है।


कृपया करके कमेंट और शेयर करना ना भूलै। 


Comments

Popular posts from this blog

सोने से पहले हैप्पी कपल्स जरूर करे ये काम।

Tips To Take Full Night Complete Sleep: पूरी रात अच्छी और गहरी नींद कैसे ले ।

KSA के द्वारा इंटरव्यू क्रैक कैसे करें?